Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

मैं यहां आया हूं तो लालू और नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द हो रहा है: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

मैं यहां आया हूं तो लालू और नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द हो रहा है: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह
कहा,झगड़ा लगाने के लिए मेरी जरूरत नहीं है लालू जी, आप झगड़ा लगाने के लिए पर्याप्त हो, आपने पूरा जीवन यही काम किया है
-लालू जी नहीं चाहते हैं देश सुरक्षित हो, बिहार सुरक्षित हो

अशोक झा, सिलीगुड़ी: बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद पहली बार पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह महागठबंधन सरकार के मुखिया नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर जमकर गरजे। पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में भाजपा द्वारा आयोजित ‘जन भावना महासभा’ में हिस्सा लेते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार पर भाजपा के साथ छल करने का आरोप लगाया।वहीं साथ में लालू यादव पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि उन्होंने अपने कुनबे की सियासत को मजबूत करने के लिए बिहार के मतदाताओं को धोखा दिया है। लालू यादव की पार्टी को बिहार के लोगों ने बहुमत नहीं दिया था लेकिन उसके बाद भी वो नीतीश कुमार के साथ मिलकर एक बार फिर जंगल राज कायम कर रहे हैं। अमित शाह ने ‘जन भावना महासभा’ में कहा, “मैं यहां आया हूं तो लालू और नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द हो रहा है। वो कह रहे हैं कि बिहार में झगड़ा लगाने आए हैं, कुछ करके जाएंगे। झगड़ा लगाने के लिए मेरी जरूरत नहीं है लालू जी, आप झगड़ा लगाने के लिए पर्याप्त हो, आपने पूरा जीवन यही काम किया है।”इसके अलावा रैली में अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से हटाई गई धारा 370 की चर्चा करते हुए पूछा क्या लालू और नीतीश की जोड़ी इसका समर्थन करेंगे? क्या उनमें हिम्मत है कि वो कह सकें कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने जम्मू-कश्मीर पर सही फैसला लिया है। गृहमंत्री ने कहा, “लालू और नीतीश कभी भी 370 को हटाने के पक्ष में नहीं खड़े होंगे क्योंकि उन्हें तो वोटबैंक दिखाई दे रहा है। लालू यादव मोदी सरकार के किसी भी ऐसे कदम की सराहना नहीं करते हैं, जो देश की सुरक्षा में उठाए गये हैं क्योंकि लालू जी नहीं चाहते हैं देश सुरक्षित हो, बिहार सुरक्षित हो। लालू राज में फिरौती मांगी जाती थी, हत्याएं होती थीं। गांधी मैदान में लालू-नीतीश की लट्ठ रैली निकलेगी। लालू नीतीश के कंधे पर सवार होकर बिहार को एक बार फिर जंगल राज में बदलना चाहते हैं।”
शाह ने कहा, “हम स्वार्थ और सत्ता की राजनीति की जगह सेवा और विकास की राजनीति के पक्षधर हैं। प्रधानमंत्री बनने के लिए नीतीश बाबू ने जिस एंटी कांग्रेस राजनीति से जन्म लिया था उसी के पीठ में छुरा घोंपकर राजद और कांग्रेस की गोदी में बैठने का काम किया।”उन्होंने आगे कहा, “बिहार की जनता से अपील करता हूं कि आने वाले चुनाव में भाजपा को वोट करें, पूर्ण बहुमत दें ताकि हम बिहार को देश का सबसे विकसित राज्य बना सकें। सीमांचल में हुई अमित शाह की इस रैली में मंच पर राज्यसभा सांसद सुशील मोदी, लोकसभा गिरिराज सिंह, रविशंकर प्रसाद के अलावा पूर्व कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह सहित प्रदेश के कई अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे। अमित शाह के अलावा रैली को संबोधित करते हुए बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने गृहमंत्री अमित शाह से पीएफआई पर बैन लगाने की मांग की।

सुशील मोदी ने कहा, “देश की सुरक्षा एजेंसियों ने छापेमारी करके जिस तरह से पीएफआई के आतंकी इरादों का पर्दाफाश किया है, उस पर फौरन बैन लगना चाहिए। पीएफआई देश को तोड़ने वाला संगठन है और यह भी सिमी की तरह खतरनाक है। मालूम हो कि सीमांचल के दो दिवसीय दौरे पर बिहार पहुंचे अमित शाह आज शाम किशनगंज में भाजपा कोर कमेटी की बैठक में हिस्सा लेंगे। बिहार भाजपा के पदाधिकारियों ने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह सीमांचल से ही बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 का शंखनाद करेंगे। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button