Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

अनुब्रत मंडल के करीबी मलय पिट को तलब,मलय के 12 बैंक खाते सीबीआई के रडार पर

अनुब्रत मंडल के करीबी मलय पिट को तलब,मलय के 12 बैंक खाते सीबीआई के रडार पर
– पशु तस्करी मामले में जांच कर रही है सीबीआई
अशोक झा, सिलीगुड़ी:  बंगाल के पशु तस्करी मामले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कद्दावर नेता अनुब्रत मंडल के करीबी सहयोगी भी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की निगरानी में हैं। इसी कड़ी में सीबीआई ने मलय पिट को पूछताछ के सिलसिले में गुरुवार को तलब किया। बता दें कि इस मामले में सीबीआई अनुब्रत मंडल को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है और वह अभी न्यायिक हिरासत में हैं।
मलय पिट को किया गया तलब
सीबीआई द्वारा तलब करने के बाद माना जा रहा है कि अधिकारी मलय पिट से पैसों के लेनदेन और उनके टीएमसी नेता अनुब्रता मंडल  के साथ जुड़ाव के बारे में पूछताछ की गई। मलय पिट को गुरुवार को पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोलपुर में सीबीआई के दफ्तर में बुलाया गया था।
कारोबारी हैं अनुब्रत के करीबी मलय
आपको बता दें कि, मलय पिट एक कारोबारी है जो शांतिनिकेतन मेडिकल कॉलेज के प्रमुख भी हैं और अनुब्रत मंडल के करीबी माने जाते हैं। शांतिनिकेतन मेडिकल कॉलेज के अलावा मलय पिट के नाम पर कई और शैक्षणिक संस्थान हैं। इसके साथ ही मलय पिट, स्वाधिन ट्रस्ट और सतीर्थ चैरिटेबल ट्रस्ट नाम के दो वालंटरी संगठन भी चलाते हैं। मलय पिट को गुरुवार को बोलपुर स्थित सीबीआई के अस्थायी कैंप कार्यालय रतन कुठी गेस्ट हाउस में रिपोर्ट करने को कहा गया था।
मलय के 12 बैंक खाते सीबीआई के रडार पर
सीबीआई अधिकारियों के मुताबिक मलय पिट के नाम से चल रहे 12 बैंक खाते भी उनके रडार में हैं। पश्चिम बंगाल मवेशी तस्करी मामले की जांच के दौरान सीबीआई को पता चला कि अनुब्रत मंडल ने शांतिनिकेतन मेडिकल कॉलेज के निर्माण में मलय पिट की मदद की थी। जबकि सीबीआई ने पहले ही पाया है कि अनुब्रत मंडल को मलय पिट ने दो महंगी कारें उपहार में दी थीं।
बैंक कर्मचारियों से भी हो चुकी हैं पूछताछ
सीबीआई ने इसी मामले के सिलसिले में बुधवार, 21 सितंबर को बोलपुर के बैंक कर्मचारियों को भी तलब कर चुकी है। सीबीआई ने रतन कुठी गेस्ट हाउस के अपने अस्थायी कैंप में बैंक कर्मचारियों से पूछताछ की थी। बैंक स्टाफ को तलब किए जाने के बाद ही गुरुवार को अनुब्रत मंडल के करीबी मलय पिट को तलब किया गया है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button