Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

समरकंद में रूसी राष्‍‍‍‍‍‍‍ट्रपति कहा आज का युग युद्ध का नहीं: मोदी

 समरकंद में रूसी राष्‍‍‍‍‍‍‍ट्रपति कहा आज का युग युद्ध का नहीं: मोदी
-रूसी परंपरा के अनुसार हम एडवांस में हैप्पी बर्थडे नहीं कहते हैं: व्लादिमीर पुतिन
-हम आपको और हमारे मित्र देश भारत को शुभकामनाएं देते हैं
अशोक झा, सिलीगुड़ी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्बेकिस्तान के समरकंद में एससीओ शिखर सम्मेलन के दौरान रूसी राष्‍‍‍‍‍‍‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन  से चर्चा की।
पुतिन ने कहा कि मेरे प्यारे दोस्त, आप कल अपना जन्मदिन मनाने वाले हैं। रूसी परंपरा के अनुसार हम एडवांस में हैप्पी बर्थडे नहीं कहते हैं। लेकिन हम आपको और हमारे मित्र देश भारत को शुभकामनाएं देते हैं।हम आपके नेतृत्व में भारत के लिए समृद्धि की कामना करते हैं।
आज का युग युद्ध का नहीं: मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने व्लादिमीर पुतिन से कहा कि ये युग युद्ध का नहीं है। पीएम मोदी ने कहा कि इस मुद्दे पर मैंने आपसे बात की थी। आज हम इस पर बात करना चाहेंगे कि शांति के रास्ते पर आगे कैसे बढ़ा जा सके। भारत और रूस कई दशकों तक एक साथ रहे हैं। इसके बाद पुतिन ने मोदी से कहा कि मैं यूक्रेन संघर्ष पर आपकी स्थिति जानता हूं। मैं आपकी चिंता समझता हूं। मैं जानता हूं कि आप इन चिंताओं को समझते हैं। हम चाहते हैं कि ये संकट जितना जल्दी हो सके खत्म हो। लेकिन जो दूसरी पार्टी है- यूक्रेन, वे संवाद प्रक्रिया में शामिल ही नहीं होना चाहते हैं। वे कहते हैं कि वे अपने लक्ष्यों को युद्ध के मैदान में हासिल करना चाहते हैं। हम इस बारे में पूरी गतिविधि से आपको अवगत कराते रहेंगे।

भारतीय छात्रों को निकालने में मदद के लिए शुक्रिया: मोदी

व्लादिमीर पुतिन से पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- मैं आपका और यूक्रेन का आभार व्यक्त करना चाहूंगा कि संकट के काल की शुरुआत में जब हमारे हजारों छात्र यूक्रेन में फंसे थे, आपकी और यूक्रेन की मदद से छात्रों को हम निकाल पाए।

फूड-फ्यूल सिक्योरिटी की समस्याओं पर रूस करे पहल

पीएम नरेंद्र मोदी ने पुतिन से कहा कि आज भी दुनिया के सामने जो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं, वे विकासशील देशों के लिए फूड सिक्योरिटी, फ्यूल सिक्योरिटी, उर्वरकों की समस्याएं हैं। हमें इस पर रास्ते निकालने होंगे। आपको भी उसपर पहल करनी होगी।

समिट में भारत की तारीफ करने के लिए रूस का आभार

नरेंद्र मोदी ने पुतिन से कहा कि हम पिछले कई दशकों से हर पल एक-दूसरे के साथ रहे हैं। लगातार दोनों देश इस क्षेत्र की भलाई के लिए काम कर रहे हैं। आज SCO समिट में भी आपने भारत के लिए जो भावनाएं व्यक्त की हैं, उसके लिए मैं आपका आभारी हूं। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button