Khabar AajkalNewsPopular

#49 लाख लेकर पकड़े गए विधायक के पास इतने पैसे नहीं है जिससे स्मार्ट फोन या लैपटॉप खरीद सके!!

#49 लाख लेकर पकड़े गए विधायक के पास इतने पैसे नहीं है जिससे स्मार्ट फोन या लैपटॉप खरीद सके!!
-आज झारखंड विधानसभा अध्यक्ष के न्यायाधिकरण में सुनवाई हुई
अशोक झा,सिलीगुड़ी:झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों के पास से भारी मात्रा में कैश बरामद होने के बाद कांग्रेस पार्टी ने सख्त एक्शन लिया था। जहां झारखंड प्रदेश कांग्रेस के शिकायत पर कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने अपने ही पार्टी के 3 विधायकों के हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल होने के साथ ही साथ हेमंत सोरेन की सरकार को अस्थिर करने के आरोप में संज्ञान लिया है। वहीं, इस मामले को विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र नाथ महतो तक पहुचाया गया था। साथ ही यह मांग की गई थी कि तीनों विधायकों की सदस्यता रद्द की जाए। बता दें कि, 49 लाख रुपये नकद जब्त किए जाने के बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया था। उसके बाद कांग्रेस ने इन तीन विधायकों को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। दरअसल, आज झारखंड विधानसभा अध्यक्ष के न्यायाधिकरण में सुनवाई हुई है। वहीं, सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई है। इस पूरी सुनवाई के दौरान तीनों विधायक अपने वकील के माध्यम से उपस्थित हुए। वहीं, सुनवाई में उपस्थित वकील के माध्यम से विधायकों ने यह जानकारी दी कि , उनके पास इतने पैसे नहीं है जिससे स्मार्ट फोन या लैपटॉप खरीद सके। उनके वकील के तरफ से स्पीकर से निवेदन किया गया कि ऑनलाईन सुनवाई से जुड़ने के लिए लैपटॉप मुहैया कराया जाए।
जानिए क्या हैं पूरा मामला?

बता दें कि, झारखंड कांग्रेस के तीनों विधायक जिसमें जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी, विधायक नमन विक्सल कौन गाड़ी, विधायक राजेश कश्यप नगद 49 लाख रुपयों के साथ कोलकाता में गिरफ्तार हुए थे। जिस वक्त झारखंड में मानसून सत्र चल रहा. इस दौरान कांग्रेस के तीनो विधायकों पर अपनी ही सरकार को अस्थिर करने के आरोप लगे थे.उनकी गिरफ्तारी हुई थी। हालांकि, बाद में हाई कोर्ट से जमानत मिल गई. लेकिन 3 महीने तक वे कोलकाता में ही रहेंगे. यही जमानत की शर्त थी।

हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल होने के आरोप में सदस्यता रद्द करने की अपील

इस मामले में आज झारखंड़ कांग्रेस के तीनों विधायकों को अपनी ही पार्टी के द्वारा हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल होने के आरोप में सदस्यता रद्द करने की अपील झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष से की गई है। ऐसे में अब देखना ये होगा कि जब गाड़ी में 50 लाख लेकर घूमने वाले विधायक निकले कंगाल! इनके पास नहीं है स्मार्टफोन और लैपटॉपस्पीकर न्यायाधिकरण ने सुनवाई के लिए अगली तारीख 5 सितंबर को होगी। ऐसे में क्या कुछ फैसले निकल कर सामने आते हैं। वहीं, झारखंड विधानसभा अध्यक्ष के न्यायाधिकरण में सुनवाई हुई है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button