Khabar AajkalNewsPopularState

कोयला माफिया के बॉडीगार्ड के घर छापामारी,एके-47 के साथ कई अत्याधुनिक हथियार बरामद

कोयला माफिया के बॉडीगार्ड के घर छापामारी,एके-47 के साथ कई अत्याधुनिक हथियार बरामद
 – रिमांड पर पुलिस करेगी पूछताछ कई और लोग निशाने पर
अशोक झा, सिलीगुड़ी: गुप्त सूचना के आधार पर एक घर में छापामारी कर पुलिस ने कई अत्याधुनिक हथियार जब्त किये गये हैं। आसनसोल-दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट के तहत पांडेश्वर थाना इलाके के रामनगर 3 नंबर कोलियरी इलाके में गुप्त सूचना के आधार पर पांडवेश्वर थाना की पुलिस ने एक कोयला माफिया के बॉडीगार्ड के घर छापामारी की। इसमें एके-47 के साथ कई अत्याधुनिक हथियार बरामद हुए हैं।
एक व्यक्ति को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट के डीसी ईस्ट अभिषेक गुप्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पांडवेश्वर थाना इलाके से पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापामारी की, जिसमें एके-47 समेत कई अत्याधुनिक हथियार मिले. सुनील पासवान उर्फ शोले (45) नामक एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।सुनील के घर से एके 47 राइफल, दो देशी कार्बाइन, एक SBBL गन, एक बड़ी पाइप गन और 7.62mm का 8 राउंड कारतूस जब्त किया गया है। डीसी ने बताया की आरोपी हथियारों को बेचने की फिराक में था. शुक्रवार की रात एक व्यक्ति इन हथियारों को खरीदने के लिए तीन नंबर इलाके में आया था। समय रहते पुलिस को इसकी सूचना मिल गयी। पुलिस ने छापामारी की और हथियारों को जब्त कर लिया।

सुनील पासवान का साथी मंजीत राम फरार

पुलिस ने बताया की सुनील का एक साथी मंजीत राम फरार हो गया है। डीसी ने बताया की मंजीत की तलाश की जा रही है। उन्होंने बयाया की सुनील पासवान डालूरबांध आठ नंबर इलाके के कुख्यात कोयला माफिया नूर आलम का अंगरक्षक है। विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि इलाके में कोयला माफिया पहले इलाके में आतंक फैलाने के लिए इन हथियारों का उपयोग करते थे।

लोगों को डराने के लिए होता था हथियारों का इस्तेमाल

यह भी बताया जा रहा है कि वर्ष 2019 में नूर आलम की हत्या के बाद से सुनील पासवान इलाके में कोयला तथा बालू के अवैध कारोबार में आतंक फैलाने के लिए इन हथियारों का इस्तेमाल करता था। पुलिस सुनील पासवान को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। इस अवैध कारोबार और हथियार की तस्करी के पीछे और कौन-कौन लोग शामिल हैं, हथियार कहां से आते थे और कहां इन्हें बेचा जाता था, इस कारोबार में और कौन-कौन लोग शामिल हैं, पुलिस इसकी जांच करेगी।

आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज हुई प्राथमिकी

जिला पुलिस हथियारों की बरामदगी को बड़ी सफलता मान रही है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अंडाल एसीपी के साथ ही पांडवेश्वर थाना प्रभारी भी मौजूद थे। आरोपी के खिलाफ इस घटना में पांडवेश्वर पुलिस स्टेशन में 100/22 (26/08/2022), 25(1B)(A)/35 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button