Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

अनुब्रत मंडल की बेटी सुकन्या सहित छह अन्य परिजनों को गुरुवार को कोर्ट में हाजिर होने का निर्देश

अनुब्रत मंडल की बेटी सुकन्या सहित छह अन्य परिजनों को गुरुवार को कोर्ट में हाजिर होने का निर्देश
-बिना परीक्षा दिए सुकन्या को मिली नौकरी,रजिस्ट्रार उनके घर साइन करने आया करता था
अशोक झा,सिलीगुड़ी:  पश्चिम बंगालमें गाय तस्करी और कोयला तस्करी के मामले में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस के बीरभूम के जिलाध्यक्ष अनुब्रत मंडल की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है।अनुब्रत मंडल पर अब बिना प्राथमिक शिक्षक योग्यता की परीक्षा (टेट) पास किये बेटी सुकन्या मंडल सहित छह को प्राथमिक शिक्षक की नौकरी देने का आरोप लगा है। इस मामले में बुधवार को हाई कोर्ट में मामला दायर किया गया। हाई कोर्ट ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए अनुब्रत मंडल की बेटी सुकन्या सहित छह अन्य परिजनों को गुरुवार दोपहर तीन बजे टेट में उत्तीर्ण हुए प्रमाणपत्र के साथ हाजिर होने का आदेश दिया है। गुरुवार दोपहर तीन बजे फिर इस मामले की सुनवाई होगी। कोर्ट ने आदेश दिया है कि यदि वे कोर्ट में हाजिर नहीं होंगे, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बीरभूम के पुलिस अधीक्षक को यह निर्देश दिया गया है कि वे सुनिश्चित करें कि वे छह लोग कोर्ट में कल हाजिर हो।

बिना परीक्षा दिए सुकन्या को मिली नौकरी
बता कि गाय तस्करी मामले मेंसीबीआई ने अनुब्रत मंडल की बेटी सुकन्या की संपत्तियों की निगरानी पहले ही शुरू कर दी है। सीबीआई की टीम बुधवार को बोलपुर स्थित अनुब्रत मंडल के घर भी गयी थी,लेकिन सुकन्या ने बात नहीं की। और इस बार सुकन्या मंडल के खिलाफ विस्फोटक आरोप लगे हैं। सुकन्या मंडल को शुरू में बिना टेट परीक्षा पास किए ही नौकरी मिल गई। कलकत्ता उच्च न्यायालय में प्रारंभिक भर्ती से जुड़े एक मामले में वकील फिरदौस शमीम ने ऐसी शिकायत की थी। उन्होंने यह भी बताया कि सुकन्या स्कूल नहीं जाती थी। रजिस्ट्रार उनके घर साइन करने आया करता था।

बेटी और भाई को नौकरी देने का आरोप
अनुब्रत मंडल पर अपनी बेटी सुकन्या मंडल, भाई समित मंडल, पीए अर्क दत्त, भतीजे सत्यकी मंडल, परिजन कौस्तबी चौधरी और परिजन सजित बागदी को बिना टेट परीक्षा दिए नौकरी देने का आरोप लगा है। कलकत्ता हाई कोर्ट के न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय ने इस मामले में गुरुवार को ही सभी को कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया है। न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय ने बीरभूम के पुलिस अधीक्षक को यह निर्देश दिया है कि वह सुनिश्चित करें कि ये सभी कल कोर्ट में हाजिर हो। बता दें कि शिक्षक भर्ती घोटाले में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में एएसससी सलाहाकार कमेटी के पूर्व चेयरमैन शांतिप्रसाद सिन्हा और पूर्व सदस्य अशोक साहा को भी गिरफ्तार किया है। आज उन्हें फिर कोर्ट में पेश किया गया था।कोर्ट ने और छह दिनों की सीबीआई हिरासत का निर्देश दिया है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button