Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

पूर्व मंत्री के पैर में सूजन आ गई है और कमर में लगातार हो रहा है दर्द

पूर्व मंत्री के पैर में सूजन आ गई है और कमर में लगातार हो रहा है दर्द
-जेल में पार्थ चटर्जी का पूरा इलाज संभव नहीं
 अशोक झा सिलीगुड़ी:शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में आरोपी पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी फिलहाल प्रेसिडेंसी जेल में हैं। कोर्ट के आदेश पर फिलहाल जेल समय बिता रहे हैं। जेल हिरासत के दौरान पूर्व मंत्री के पैर में सूजन आ गई है और कमर में लगातार दर्द हो रहा है. पार्थ चटर्जी की जांच के लिए प्रेसीडेंसी जेल में शनिवार को सात सदस्यीय मेडिकल टीम गई थी। जेल के डॉक्टरों के प्रमुख प्रणब घोष ने पूर्व मंत्री को देखने के बाद प्रारंभिक रिपोर्ट में उल्लेख किया था कि जेल में पार्थ चटर्जी का पूरा इलाज संभव नहीं है। उन्होंने जेल अधीक्षक को भी रिपोर्ट दी थी. उसके बाद मेडिकल टीम उन्हें देखने जेल में गई. यह टीम पार्थ को जेल में कैसे रखा जाए? इस बारे में दिशा निर्देश देगी.
पार्थ को जो शारीरिक समस्याएं हैं. उनका डॉक्टरों ने रिपोर्ट में जिक्र किया गया है. डॉक्टरों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जेल से सभी समस्याओं का इलाज नहीं किया जा सकता है.

जेल के डॉक्टरों ने सौंपी रिपोर्ट
जेल सूत्रों के मुताबिक जेल सुपर ने जेसप भवन स्थित जेल कार्यालय को रिपोर्ट भेज दी थी. वह रिपोर्ट जेल अधिकारियों द्वारा राज्य सचिवालय नबान्न भेजी गई थी. फिर यह दक्षिण 24 परगना सीएमओएच को भेजी गयी. यह रिपोर्ट मिलने के बाद शनिवार को सीएमओएच के निर्देश पर मेडिकल टीम जेल गई. डॉक्टर प्रणब घोष ने कहा कि पार्थ चटर्जी ठीक हैं. बता दें कि प्रेसिडेंसी जेल लाये जाने के बाद पार्थ चटर्जी के लिए पहली रात मुश्किल भरी थी. उन्हें चार कंबल दिये गये थे, लेकिन वह जमीन पर नहीं बैठ पा रहे थे. इस कारण उन्होंने सारी रात कंबोड पर बैठकर बिताई थी. उस दिन के बाद से उनके पैर में सूजन हो गया है और कमर में दर्द है.

डॉक्टरों की सलाह पर दी गई है चौकी
उसके बाद जेल के डॉक्टरों ने उन्हें देखा था और डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें एक चौकी दी गई थी. हालांकि चौकी मिलने के बाद उनकी स्थिति में थोड़ी सुधार हुई है, लेकिन जिस तरह से उनके पैर का सूजन बढ़ रहा है. इससे डॉक्टर चिंतित हैं.बैंकशाल कोर्ट ने ईडी की हिरासत में पार्थ को हर 48 घंटे में चेकअप कराने का आदेश दिया था, लेकिन प्रेसीडेंसी जेल में पार्थ का इलाज करने के लिए यह पहली मेडिकल टीम गयी थी. मेडिकल टीम ने उनका पूरा मुआयना किया और अपनी रिपोर्ट देगी। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button