Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

अनुब्रत मंडल से गहन पूछताछ जारी, पुलिस पदाधिकारी रडार पर

अनुब्रत मंडल से गहन पूछताछ जारी, पुलिस पदाधिकारी रडार पर
-अनुब्रत मंडल के बॉडीगार्ड सहगल हुसैन को पहले ही अरेस्ट किया जा चुका है

अशोक झा, सिलीगुड़ी:  कोयला तस्करी मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) पहले ही पश्चिम बंगाल के 8 उच्च पुलिस अधिकारियों को दिल्ली तलब कर चुका है। अब गौ तस्करी के मामले में बीरभूम के कई पुलिसकर्मी CBI के रडार पर भी आ गए हैं। इस सिलसिले में अनुब्रत मंडल के बॉडीगार्ड सहगल हुसैन को पहले ही अरेस्ट किया जा चुका है। इस बार अनुब्रत मंडल के एक और करीबी पुलिसकर्मी का नाम सामने आया है। CBI सूत्रों के अनुसार, वह पुलिसकर्मी बीरभूम जिला पुलिस हेडक्वार्टर में कार्यरत है। दरअसल, CBI को शक है कि गाय तस्करी की तस्करी में पुलिस के एक हिस्से की बड़ी भूमिका है। इस आधार पर कुछ पुलिसकर्मियों को तलब किया जा सकता है। CBI सूत्रों के अनुसार, अनुब्रत के बीरभूम जिला पुलिस हेडक्वार्टर में काम करने वाले पुलिसकर्मी के साथ घनिष्ठ संबंध हैं। आरोप है कि कुछ पुलिस कर्मी मुख्य तौर पर इसी नजदीकी की वजह से गौ तस्करी में शामिल थे। सहगल की अकूत संपत्ति के सबूत भी जांच एजेंसी को मिले हैं। सहगल और माधव नामक एक अन्य पुलिसकर्मी के बयान भी CBI के पास हैं। हालांकि, 26 अप्रैल को इलामबाजार में एक हादसे में माधव की जान चली गई थी। सूत्रों के अनुसार, जांचकर्ता अनुब्रत मंडल से गौ तस्करी को लेकर उस बयान के आधार पर सवाल-जवाब कर रहे हैं। सूत्रों का दावा है कि अनुब्रत विभिन्न सूचनाओं के सामने ‘असहाय’ नज़र आ रहे हैं। भले ही वह शुरू में चुप हैं। CBI अधिकारी का कहना है कि अनुब्रत मंडल पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं। CBI इस संबंध में जानकारी जुटा रही है कि अनुब्रत मंडल का गो तस्करी का नेटवर्क किस तरह काम करता था। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button