Khabar AajkalNewsPopularSiliguri

शहर में भाजपा ने निकाली बाइक पर तिरंगा यात्रा

शहर में भाजपा ने निकाली बाइक पर तिरंगा यात्रा
कहा हर घर पर लहराए तिरंगा, मनाएं अमृत महोत्सव
अशोक झा, सिलीगुड़ी: तिरंगा यात्रा में जहां रंग दे बसंती चोला और देश प्रेमी गीतों पर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जमकर भारत माता की जयकारे के नारे भी लगाए। यात्रा के दौरान  भारी पुलिस के साथ पूरी यात्रा में मौजूद रहे। 15 अगस्त को भारत में 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाया जाएगा। जिसको लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली है तो वहीं हर घर तिरंगे का नारा देते हुए बीजेपी सिलीगुड़ी जिला के नेता औार कार्यकर्ता बाइक  पर तिरंगा यात्रा का सिलीगुड़ी कंचनजंगा स्टेडियम के निकट से इसका शुभारंभ किया।
इस अभियान के तहत 11 अगस्त से 17 अगस्त तक घरों में तिरंगा फहराने के लिए प्रेरित किया जायेगा। संस्कृति मंत्रालय इसे सफल बनाने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहा है। सच बात तो ये है कि राष्ट्र निर्माण में सरकार का यह अभियान सचमुच हमारी तिरंगे की आन-बान और शान को समर्पण होगा। नई पीढ़ी में वैसे भी जोश है और तिरंगे को लेकर अगर हम समाज में इस अभियान के तहत जागरूकता फैला रहे हैं तो इसकी प्रशंसा की जानी चाहिए। पिछले साल ही सरकार ने स्पष्ट कर दिया था कि आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर हमें अपनी राष्ट्रभक्ति का प्रदर्शन पूरी ताकत के साथ करना चाहिए और इसीलिए अनेक सामाजिक संगठन कार्यालय, कॉरपोरेट दफ्तर हर कोई जुड़ा रहा परंतु घर-घर तिरंगा अभियान सचमुच में एक अलग शान प्रस्तुत करेगा। कल्पना कीजिए कि जब आप कार से, बस से, ट्रेन से या फिर हवाई जहाज से यात्रा करेंगे और एक ही नजर में हर तरफ तिरंगा फहराते हुए देखेंगे तो इससे बड़ा राष्ट्रीय गौरव हो नहीं सकता और अमृत महोत्सव का आयोजन अपनी सार्थकता को सिद्ध कर देगा। तिरंगा घर-घर फहराने की अपील भले ही राष्ट्रीय स्तर पर हो सकती है परंतु हमारा मानना है कि हमें खुद इसके लिए प्रेरित होकर अपने अडा़ेस पड़ोस हर किसी को तिरंगा फहराने के लिए प्रेरित करना चाहिए। मैं समझती हूं कि ऐसा जोश अपने आपमें एक राष्ट्रीय कर्तव्य और राष्ट्रीय अनुशासन है जिसकी देश को सबसे ज्यादा जरूरत है।
क्योंकि कोई भी राष्ट्र अनुशासन और कर्तव्यपरायणता के साथ ही अपनी एक गौरवशाली पहचान बनाता है। जीवन के क्षेत्र में स्कूलों और सेना के तीनों अंगों में जितना अनुशासन भारत में है उसकी जरूरत देश में हर क्षेत्र में होनी चाहिए। राष्ट्र के प्रति सम्मान की भावना जितनी बुलंद हो उतना ही अच्छा। यह सही है कि आजादी के दिवानों शहीदे आजम भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर, रामप्रसाद बिसमिल्ल, वीर सावरकर, लाला लाजपतराय, शहीद उधम सिंह जैसे हजारों नाम हैं जिन्होंने अपना जीवन हमें आजादी दिलाने के लिए कुर्बान किया। हमारा यही मानना है कि देश की नई  पीढ़ी को इन अमर शहीदों से जुड़े अनछुए पहलुओं के बारे में भी पता होना चाहिए। यह अलग-अलग स्थानों पर इन शहीदों के चित्रों के माध्यम से, प्रदर्शनी के माध्यम से होने चाहिए। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button