Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

बंगाल शिक्षक बहाली घोटाले में दो अधिकारी गिरफ्तार

बंगाल शिक्षक बहाली घोटाले में दो अधिकारी गिरफ्तार
– दोनों गिरफ्तार अधिकारी पार्थ चटर्जी के करीबी 
अशोक झा, सिलीगुड़ी:  बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी की गिरफ्तारी के बाद अब पूर्व अधिकारियों पर गाज गिरी है। इस मामले में सीबीआई ने शांति प्रसाद सिन्हा और अशोक साहा को गिरफ्तार किया है। अशोक साहा पश्चिम बंगाल स्कूल सर्विस कमीशन के सचिव थे और शांति प्रसाद सिन्हा भी सलाहाकार कमेटी में थे। इसके पहले सीबीआई के अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की थी। उनके घर पर छापेमारी की थी। बुधवार को इन दोनों को सीबीआई कार्यालय में तलब किया गया था और सुबह से पूछताछ चल रही थी. उसके बाद शाम को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।बता दें कि शांति प्रसाद सिन्हा और अशोक साहा पर आरोप लगा है कि इन लोगों ने पूछताछ में कई बातें छुपाई थी और उनकी बातों में असंगति पाई थी। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई द्वारा दायर प्राथमिकी में भी इनके नाम थे।

दर्ज एफआईआर में शांतिप्रसाद का था पहला नाम
सीबीआई ने एसएससी भर्ती भ्रष्टाचार की जांच में एसएससी के दो पूर्व सलाहकार शांतिप्रसाद सिन्हा और अशोक साहा को गिरफ्तार किया है। इस मामले में सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी में सबसे पहले शांति प्रसाद का नाम था। चौथे स्थान पर अशोक साहा का नाम था. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में विसंगतियां मिलने पर दोनों को गिरफ्तार करने का फैसला किया गया। इस बार सीबीआई के अधिकारी उनसे अपनी हिरासत में और पूछताछ करेंगे। हाई कोर्ट की बाग कमेटी की रिपोर्ट में एसएससी के पूर्व संयोजक शांतिप्रसाद और एसएससी के पूर्व सचिव अशोक का भी नाम था। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक ये दोनों जांचकर्ताओं को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे। वह जानकारी छिपा रहे थे। इसलिए शांतिप्रसाद और अशोक को गिरफ्तार किया गया।

पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को हो चुकी है गिरफ्तारी
इस मामले में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी की प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी पहले ही गिरफ्तार कर चुके हैं। वे दोनों फिलहाल जेल हिरासत में हैं। अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से ईडी के अधिकारियों को करोड़ों रुपये मिले थे। उसके बाद यह मामला तूल पकड़ा था. उस सयम भी अशोक साहा और शांति प्रसाद के घर में छापेमारी की गई थी। उनके घर से कई अनैतिक कागजात बरामद किये गये थे। इन पर आरोप लगा था कि शिक्षक की अवैध रूप से नियुक्ति में इनका सीधा हाथ था और इनकी संलिप्तता थी। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button