Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

नीतीश मुख्यमंत्री,तेजस्वी यादव  ने ली डिप्टी सीएम पद की शपथ

नीतीश मुख्यमंत्री,तेजस्वी यादव  ने ली डिप्टी सीएम पद की शपथ
– भाजपा और जदयू खुलकर आए आमने-सामने
अशोक झा सिलीगुड़ी: बिहार में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन टूटने के पश्चात् एक बार फिर से महागठबंधन की सरकार बनने जा रही है। आज दोपहर 2 बजे राजभवन में नीतीश कुमार सीएम तो तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम पद की शपथ ली।वहीं बीजेपी आज सभी जिलों में JDU नेता द्वारा विश्वासघात के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध (महाधरना) करेगी। तत्पश्चात, ब्लॉक स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। बता दे कि बिहार में शपथग्रहण कार्यक्रम जारी है। नीतीश कुमार ने आठवीं बार सीएम पद की शपथ ले ली है। राज्यपाल फागू चौहान ने उन्हें गोपनीयता की शपथ दिलाई है। वहीं राष्ट्री जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। वहीं इससे पहले बिहार के मनोनीत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव को फोन किया तथा उनके शपथ ग्रहण कार्यक्रम से पहले सभी सियासी घटनाक्रमों से अवगत कराया। लालू प्रसाद यादव ने उन्हें बधाई दी तथा उनके फैसले की प्रशंसा की।नीतीश कुमार ने 8वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ही भाजपा पर तीखा हमला बोला है। 2024 में पीएम पद की दावेदारी पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोले, नहीं, हमारी किसी भी पद के लिए कोई दावेदारी नहीं है।नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बिना नाम लिए ही हमला बोलते हुए कहा कि क्या 2014 में आने वाले 2024 में रह जाएंगे? हम रहें या न रहें, वो 2024 में नहीं रह जाएंगे। नीतीश कुमार ने बीजेपी संग गठबंधन तोड़ने पर भी खुलकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ महीने से हम कोई बातचीत नहीं कर रहे थे, जो हो रहा था, वह गलत था। नीतीश कुमार ने बोला कि 2020 के चुनाव में JDU के साथ क्या बर्ताव हुआ था। हमारा भाजपा के साथ जाने से नुकसान हुआ था।नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी पार्टी के सब लोग बोलते रहे कि बीजेपी को छोड़ दिया जाए। इसलिए हमने यह निर्णय लिया था। प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को लेकर कहा कि यह सब छोड़ दीजिए। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को लगता है कि विपक्ष समाप्त हो जाएगा। हम भी तो विपक्ष में ही आ गए हैं। देश भर में घूमकर विपक्ष को मजबूत करने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि हम आगे सब कुछ करेंगे। हम चाहेंगे कि पूरा विपक्ष एक होकर आगे बढ़े और प्लान तैयार करे। इन व्यक्तियों को 2014 में बहुमत मिला था, मगर अब तो 2024 आ रहा है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button