Khabar AajkalNewsPopular

भुवनेश्वर एम्स की रिपोर्ट ने बढ़ाई मंत्री पार्थ चटर्जी की मुश्किलें

भुवनेश्वर एम्स की रिपोर्ट ने बढ़ाई मंत्री पार्थ चटर्जी की मुश्किलें
– छुट्टी मिलते गहन पूछताछ में जुट जाएगी ईडी
अशोक झा, सिलीगुड़ी: पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) को लेकर प्रवर्तन निदेशाल (ED) की जांच का सामना कर रहे तृणमूल कांग्रेस (TMC) नेता और कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी (Parhta Chatterjee) की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है। कलकत्ता हाईकोर्ट (Calcutta High Court) के आदेश के बाद उन्हें एयर एम्बुलेंस के जरिए आज ओडिशा (Odisha) की राजधानी भुवनेश्वर लेकर आया गया था। जहां उन्हें एम्स भुवनेश्वर (AIIMS Bhubaneswar) में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। पार्थ चटर्जी की सेहत को लेकर एम्स भुवनेश्वर के निदेशक आशुतोष बिस्वास ने बताया कि, “उन्हें अपनी पुरानी बीमारी के कारण परेशानी हो रही थी। हमने उनकी पूरी जांच की और उसकी रिपोर्ट हाईकोर्ट को सौंप दी गई है। उनकी हालत स्थिर है और उन्हें आज अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। 
डॉक्टरों ने बताया पूरी तरह से स्वस्थ

बता दें कि स्कूल सेवा आयोग घोटाले में ईडी ने शनिवार को पार्थ चटर्जी को 26 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद उन्होंने सेहत बिगड़ने का हवाला दिया था। जिसके बाद उन्हें कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उन्हें एसएसकेएम अस्पताल भेजा गया। जहां से उन्हें कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश के बाद आज एयर एम्बुलेंस से भुवनेश्वर ले जाया गया। भुवनेश्वर पहुंचने के बाद पार्थ चटर्जी को निजी वार्ड में भर्ती कराया गया।  जहां उनके स्वास्थ्य की जांच के बाद उन्हें एक विशेष कक्ष में ले जाया गया। पार्थ चटर्जी की सभी जांच रिपोर्ट आने के बाद एम्स भुवनेश्वर ने मीडिया को बताया कि वे पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं और उन्हें आज ही अस्पताल से छु्ट्टी दे दी जाएगी। बताया जा रहा है कि ईडी पार्थ चटर्जी को अस्पताल से छुट्टी मिलते ही अपनी कस्टडी में लेकर उनसे मामले से जुड़ी पूछताछ जारी रख सकती है।

ईडी फिर से कर सकती है पूछताछ

सूत्रों की माने तो पहले दिन ईडी ने पार्थ चटर्जी से मामले से जुड़े कई सवाल पूछे थे, जिनका वह ठीक से जवाब नहीं दे पाए थे। ईडी की सवालों का सामना करने से बचने के लिए उन्होंने खराब सेहत का बहाना दिया था। लेकिन अब आज उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। जिसके बाद ईडी एक बार फिर उनसे मामले से जुड़े सवाल पूछ सकती है। बताया जा रहा है कि इस मामले में ईडी कोई कई अहम सुराग हाथ लगे है और इस मामले में अभी कई और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। गौरतलब है कि ईडी ने पार्थ चटर्जी की सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के घर पर छापेमारी में 21 करोड़ से ज्यादा की रकम बरामद की थी. इसके अलावा ईडी को उनके घर से 79 लाख के गोल्ड और 54 लाख की विदेशी मुद्रा भी बरामद हुई थी। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button