Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

चुनावी हिंसा मामले में 1 टीएमसी नेता को सीबीआई की नोटिस

चुनावी हिंसा मामले में 1 टीएमसी नेता को सीबीआई की नोटिस
-कूचबिहार में हिंसा के मामले में CBI ने सात को किया गिरफ्तार
अशोक झा, सिलीगुड़ी : केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) के रडार पर एक और टीएमसी नेता आ गए हैं। सीबीआई ने टीएमसी नेता अबू ताहिर को नोटिस जारी किया है। ताहिर को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद फैली हिंसा के मामले में पूछताछ के लिए बुलाया गया है।दरअसल, पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद कई जगहों पर हिंसा हुई थी। इस दौरान कई राजनीतिक हत्याएं हुई थीं। घरों में भी आगजनी और तोड़फोड़ की गई थी। बीजेपी का आरोप था कि टीएमसी ने राजनीतिक बदला लेने के लिए ये हिंसा करवाई है। बीजेपी का आरोप था कि चुनाव में पार्टी का समर्थन करने के लिए उनके कई कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई। कई घरों से बेदखल हो गए। कोलकाता हाईकोर्ट ने हिंसा के दौरान रेप और हत्या जैसे जघन्य मामलों की जांच सीबीआई को सौंपी थी। सीबीआई इस मामले में जांच कर रही है। अब हाईकोर्ट ने इस मामले में टीएमसी नेता अबू ताहिर को नोटिस जारी किया है। इससे पहले भी सीबीआई ने अबू ताहिर समेत तमाम टीएमसी नेताओं को नोटिस जारी किया था।
कूचबिहार में हिंसा के मामले में CBI ने सात को किया गिरफ्तार
जांच के दौरान निरंतर प्रयासों के बाद सीबीआई ने कूचबिहार, जयपुर और कोलकाता से सात आरोपियों की पहचान की। उनका पता लगाया और उन्हें गिरफ्तार किया, जो कथित तौर पर मृतक की मौत में शामिल थे। सीबीआई ने कूचबिहार में लगभग 8 स्थानों पर तलाशी ली थी, जिससे आपत्तिजनक दस्तावेज और लेख बरामद हुए। गिरफ्तार आरोपियों को सक्षम न्यायालय में पेश कर पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।बता दें कि चुनाव बाद हिंसा के मामलों की सीबीआई जांच कर रही है. इस मामले में सीबीआई कई चार्जशीट भी दाखिल कर चुकी है।

नंदीग्राम में चुनाव बाद हिंसा मामले में टीएमसी के 3 नेताओं को किया तलब
दूसरी ओर, चुनाव बाद हुई हिंसा के मामले में सीबीआई ने नंदीग्राम में भाजपा कार्यकर्ता देबब्रत माइति की हत्या के मामले में तृणमूल नेता अबू ताहिर के नाम गिरफ्तारी वारंट जारी करने के लिए निचली अदालत में आवेदन किया है। अबू ताहिर समेत तृणमूल के कई नेताओं को पहले भी कई बार बुलाया जा चुका है, लेकिन नेताओं ने हर बार किसी न किसी बहाने नहीं हाजिर हुई थी। अबू ताहेर के अतिरिक्त शेख खुसानबिश, अमौल्लाह की हिरासत की मांग की गई है, आरोप है कि इन लोगों ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया है।

कलकत्ता हाई कोर्ट ने 13 आरोपियों की जमानत याचिका की खारिज
2021 के विधानसभा चुनाव के बाद से सत्ताधारी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर कई आरोप लगे हैं। सोमवार को कलकत्ता हाई कोर्ट में मामले की सुनवाई जस्टिस देबांशु बसाक और जस्टिस बिवास रंजन डे की खंडपीठ दक्षिण 24 परगना जिले के 13 आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी। सीबीआई ने अदालत को बताया कि कई बेघर अभी तक नहीं लौटे हैं।  इसलिए आरोपी को जमानत नहीं दी जानी चाहिए  इन 13 लोगों को हाल ही में निचली अदालत से जमानत मिली है। उसके बाद सीबीआई निचली अदालत के आदेश को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट चली गई थी। प्रत्येक आरोपी पर हत्या, बलात्कार या बलात्कार के प्रयास के आरोप हैं। हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई मामले की जांच कर रही है। 

ईडी ने पार्थ चटर्जी को किया गिरफ्तार

अबू ताहिर को ऐसे वक्त पर सीबीआई ने नोटिस भेजा है, जब हाल ही में ईडी ने ममता के मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया है। पार्थ को शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार किया गया है। हाल ही में उनकी करीबी अर्पिता के यहां से ईडी को करीब 21 करोड़ रुपए और कीमतीं चीजें बरामद हुई थीं। पार्थ चटर्जी ममता सरकार में शिक्षा मंत्री भी रहे हैं. शिक्षा मंत्री रहते ही उनके कार्यकाल में यह घोटाला होने के आरोप लगे हैं। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button