Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

देवघर में हर हर मोदी घर- घर मोदी के लगे नारे कहा,देवघर की दिवाली को पूरा देश देख रहा था

देवघर में हर हर मोदी घर- घर मोदी के लगे नारे
कहा,देवघर की दिवाली को पूरा देश देख रहा था
-एक तरफ बाबा का आशीर्वाद, दूसरी तरफ ईश्वर रूपी जनता का आशीर्वाद, दोनों आशीर्वाद बड़ी ताकत
 अशोक झा, सिलीगुड़ी: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाबा धाम पहुंचकर जहां एक और बाबा वैद्यनाथ का जलाभिषेक और पूजा अर्चना की वही16,800 हजार करोड़ की  योजनाओं की सौगात के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बाबा की नगरी देवघर में रोड शो किया। लोगों ने पीएम मोदी का जबरदस्त स्वागत किया। इस दौरान लोगों ने ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी के नारे भी लगाए। देवघर एयरपोर्ट में झारखंड को 16 हजार 800 करोड़ रुपये से अधिक की विकास योजनाओं का सौगात देने के बाद पीएम मोदी बाबा वैद्यनाथ धाम मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की। इसके बाद पीएम मोदी ने देवघर कॉलेज मैदान में अभिनंदन रैली को भी संबोधित किया।पीएम मोदी ने कहा कि सोमवार को देवघर की दिवाली को पूरा देश देख रहा था कि जब विकास की गंगा बहती है, तो जन-जन को कितना आनंद होता है। उन्होंने कहा कि एक तरफ बाबा का आशीर्वाद, दूसरी तरफ ईश्वर रूपी जनता का आशीर्वाद, दोनों आशीर्वाद बड़ी ताकत देती है, अब देवघर में श्रावणी मेला अलग रूप रंग में मनेगी।पीएम मोदी ने कहा कि जिस प्रकार बाबाधाम में योजनाओं का विस्तार हुआ है, जिस नये एयरपोर्ट के शिलान्यास के लिए देवघर आने का सौभाग्य मिला था, आज उसके लोकार्पण, पहले घोषणा होती थी, पत्थर लगाता, फिर शिलान्यास होती और पता नहीं कितनी सरकार जाने के बाद योजना पूरी होती है, आज उस संस्कृति को लाये हैं, जिसका शिलान्यास करते हैं, उसका उदघाटन भी करते हैं। जनता के पसीनों से आये पैसे का मूल्य समझते हैं, जनता का पैसा बर्बाद ना हो जाए, उसका उपयोग जनता जर्नादन के लिए हो, इसका प्रयास करते हैं।पीएम मोदी ने कहा कि आज 16 हजार करोड़ रुपये, आस्था, विश्वास और तीर्थस्थल की धरती है, बेहतर राज्य है। देवघर में शिव भी हैं और शक्ति भी। ज्योतिर्लिंग और शक्तिपीठ यहां दोनों मौजूद हैं, हर साल यहां लाखों श्रद्धालु दूर-दूर से गंगाजल लेकर आते हैं, भले ही बोली-भाषा समझ में नहीं आये, लेकिन संस्कृति साझी अमानत है।आधुनिक सुविधाएं तैयार की जा रही है, आज पर्यटन ,दुनिया के अनेक देशों में आकर्षक उद्योग के रूप में रोजगार का बड़ा माध्यम बना है, आज पूरी दुनिया में अनेक देश है, जिनकी पूरी अर्थव्यवस्था पर्यटकों के भरोसे स ेचल रही है, भारत के कोने-कोने में पर्यटन की शक्ति आपार है, हमें इसे और बढ़ाने की जरूरत है, आज दुनिया नये स्थानों को नये कल्चर को देखना चाहती है, जुड़ना चाहती है, समझना चाहती है, लोग पुरानी विरासत को देख कर आंखें चौड़ी कर लेते है, लेकिन जब भारत में अब यहां आती है, तो हजारों वर्ष पुरानी परंपरा जब देखती है, तो चकाचौंध और उनके मन को प्रसन्न कर देती है, भारत ज्यादा से ज्यादा और तेजी से इस दिशा में पहल करें।पीएम मोदी ने कहा कि जहां जहां सुविधाएं बढ़ी, वहां पर्यटन को बढ़ावा मिला, जब से काशी में विकास की गति ने , वाराणसी आने वाले श्रद्धालुओं आने वाले संख्या बढ़ोत्तरी, तीन साल पहले आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या, होटल, ढाबा, नाव, फूल, पूजा सामान, चाय बेचने वालों को भी बहुत फायदा हुआ है, उनका कारोबार बहुत बढ़ा है, कारीगर-बुनकर की बिक्री भी बहुत ज्यादा बढ़ी है।उन्होंने कहा कि केदारनाथ में भी सुविधा में बढ़ोत्तरी नहीं होने पर कपाट खोलने के पहले दो महीने में ढाई लाख श्रद्धालु आते हैं, इस बार 9 लाख श्रद्धालु आ चुके हैं, नर्मदा के तट पर सरदार बल्लभ भाई पटेल की सबसे ऊंची मूर्ति बनी है, मूर्ति बनने के बाद लाखों श्रद्धालु आते हैं, पर्यटन से अर्थव्यवस्था में तेजी आये, वहां रहने वाले लोगों और आदिवासी भाई बहनों को हो रहा है।प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि ये जो विकास हो रहा है, ये सिर्फ नारा बोलने के लिए नहीं है, बल्कि निष्ठा, नियत और परिश्रम का परिणाम है, बीते 8 वर्षां में इसे सशक्त किया है। दलित, पिछड़े, आदिवासी भाई-बहनों का नंबर सबसे अंत में आता था, आज प्राथमिकता में हैं, जो क्षेत्र विकास के दौर में पीछे रह गये, हम उनको आगे आने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, आज बाबाधाम में आपसे सवाल करना चाहते हैं, आप मन में, देश यही है, लोग यही है, दफ्तर वही है, पहले होने चाहिए थे या नहीं, कौन रोकता था उन्हें, इसका एक बड़ा कारण था, सत्ता भाव के कारण जो सरकारें में रही, उनकी प्राथमितका सिर्फ सत्ता रही। सेवा कभी उनकी प्राथमिकता नहीं रही। इसलिए संताल को बड़ा इंतजार करना पड़ा, गांव-गांव सड़क बना रही, सबको सुरक्षित, झारखंड के 12 लाख गरीब परिवार को पक्के लाख को घर मिले हैं, आदिवासी, हर भाई बहन को बिजली, रसोई गैस मिले, इसके लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं। गरीबों को गरीबी के खिलाफ लड़ने का नया साहस पैदा हुआ, सरकार गरीबों की मुश्किल समझती है, गरीबों के सुख-दुख की साथी है, 100 साल की सबसे बड़ी महामारी आयी, मुफ्त वैक्सीन के साथ खाने-पीने का ध्यान रखा। पीएम ने कहा कि झारखंड में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए निरंतर काम कर रहे हैं, रघुवर दास जब सीएम थे, आयुष्मान भारत का शुभारंभ और उद्घाटन यहीं हुआ, झारखंड के 12 लाख से अधिक भाई बहनों को आयुष्मान भारत का लाभ मिला। इससे सिर्फ झारखंड की जनता को 1400 करोड़ रुपये की बचत हुई है। वे दवाई नहीं करवाते, मां को चिंता रहती, बेटे पर कर्ज ना हो जाता, इसलिए दर्द सहती रहती, लेकिन वे कहना चाहती है, मां चिंता ना करें, उनका दूसरा बेटा यहां बैठा है, देवघर एम्स से लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button