Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

पीएम मोदी को मंत्रोच्चारण सुनाया और योग करके दिखाया

पीएम मोदी को मंत्रोच्चारण सुनाया और योग करके दिखाया
-उन्होंने छात्र की पीठ थप-थपाकर उसका हौसला बढ़ाया
अशोक झा, सिलीगुड़ी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी पहुंचे, जहां उन्होंने पूर्वांचल के सबसे बड़े अक्षय पात्र मिड डे मील किचन  का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान बच्चों के साथ बातचीत भी की। इस दौरन बच्चों ने पीएम मोदी को मंत्रोच्चारण सुनाया और योग करके दिखाया। यही नहीं बच्चों ने प्रधानमंत्री मोदी को ढोल बजाकर उनका मनोरंजन भी किया, जिसे देख पीएम मोदी काफी खुश नजर आए और उन्होंने छात्र की पीठ थप-थपाकर उसका हौसला बढ़ाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों की प्रतिभा देख काफी खुश हुए। इसके बाद पीएम मोदी ने तीन दिवसीय सम्मेलन अखिल भारतीय शिक्षा समागाम का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने काशी के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों की प्रतिभा के बारे में वहां बैठे अतिथियों से बात की। पीएम मोदी ने कहा कि में काशी के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 10-12 साल के छात्रों की प्रतिभा को देखकर हैरान हूं। पीएम मोदी ने इस दौरान उन छात्रों के शिक्षकों से मिलने की इच्छा भी जाहिर की। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने अभिभाषण में कहा कि मैं यहां आने से पहले 10-15 मिनट उन बच्चों के बीच में रहा। इस दौरान मुझे हमारे सामान्य परिवारों के बच्चों की प्रतिभा को देखने का अवसर मिला। उन्होंने कहा काशी के सरकारी स्कूलों में छात्रों की प्रतिभा ने उन्हें काफी प्रभावित किया है।
पीएम मोदी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति की तारीफ की
पीएम मोदी ने इस दौरान राष्ट्रीय शिक्षा नीति की विशेषताओं का बखान करते हुए कहा कि, राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मुख्य आधार शिक्षा को संकुचित सोच के दायरे से बाहर निकालना और उसे 21वीं सदी के विचारों से जोड़ना है। उन्होंने कहा हमारे देश में मेधा की कभी कमी नहीं रही, लेकिन दुर्भाग्य से हमें ऐसी व्यवस्था बनाकर दी गई थी, जिसमें पढ़ाई का मतलब नौकरी ही माना गया।
बहुत बड़ा बदलाव रह गया था

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद शिक्षा नीति में थोड़ा बहुत बदलाव हुआ, लेकिन बहुत बड़ा बदलाव रह गया था। अंग्रेजों की बनाई व्यवस्था कभी भी भारत के मूल स्वभाव का हिस्सा नहीं थी और न हो सकती। प्रधानमंत्री ने कहा कि नई नीति में पूरा फोकस बच्चों की प्रतिभा और चॉइस के हिसाब से उन्हें skilled बनाने पर है। हमारे युवा skilled हों, confident हों, practical और calculative हो, शिक्षा नीति इसके लिए जमीन तैयार कर रही है।

नए कॉलेज खुल रहे प्रधानमंत्री ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लिए देश के एजुकेशन सेक्टर में एक बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर overhaul पर भी काम हुआ है। उन्होंने कहा आज देश में बड़ी संख्या में नए कॉलेज खुल रहे हैं, नए विश्वविद्यालय खुल रहे हैं, नए IIT और IIM की स्थापना हो रही है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति अब मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रही है। इसी क्रम में, संस्कृत जैसी प्राचीन भारतीय भाषाओं को भी आगे बढ़ाया जा रहा है। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button