Khabar AajkalNewsPoliticsPopular

दो साल बाद 21 जुलाई को कोलकाता के विक्टोरिया हाउस के सामने रैली 

दो साल बाद 21 जुलाई को कोलकाता के विक्टोरिया हाउस के सामने रैली 
– रैली को सफल बनाने के लिए दिए गए 9 निर्देश
अशोक झा, सिलीगुड़ी:  पिछले दो साल से कोलकाता में कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो साल से कोई शहीद दिवस रैली नहीं हुई है। दो साल बाद 21 जुलाई को कोलकाता के विक्टोरिया हाउस के सामने रैली होगी।
रैली को सफल बनाने के लिए तृणमूल  के शीर्ष नेतृत्व ने जिला नेतृत्व को नौ सूत्री निर्देश जारी किया। चूंकि यह कार्यक्रम दो साल बाद हो रहा है, इसलिए इस कार्यक्रम की तैयारी काफी पहले से शुरू हो गई है। इसलिए जिले से लेकर बूथ स्तर तक के नेताओं को इस गाइडलाइन का पालन करने को कहा गया है। बता दें कि 21 जुलाई 1993 को ममता बनर्जी  के नेतृत्व में राइटर्स अभियान के दौरान 13 लोगों की जान चली गई थी। उस दौरान ममता बनर्जी युवा कांग्रेस अध्यक्ष थीं, लेकिन तृणमूल कांग्रेस के गठन के बाद ममता बनर्जी हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस के रूप में मनाती रही हैं। हाल में ममता बनर्जी ने बर्धमान की सभा में कहा था कि इस बार की शहीद सभा से बीजेपी के खिलाफ जिहाद का ऐलान करेंगी। इसे लेकर राज्य की राजनीति में बवाल मचा था और बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी की सरकार का बर्खास्त करने की मांग की थी।
शहीद दिवस के लिए तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व द्वारा दिए गए नौ निर्देश :तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और अखिल भारतीय महासचिव अभिषेक बनर्जी के अलावा किसी और की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर राज्य समिति द्वारा भेजी गई सीडी के अनुसार फ्लेक्स और वॉल राइटिंग की जाए। दीवार लेखन में किसी व्यक्ति का नाम नहीं दिया जा सकता, अभियान में अपने क्षेत्र के संगठन का नाम लिखना होगा। प्रदेश के प्रत्येक प्रखंड को 21 जुलाई को व्यापक अभियान चलाना होगा और इस अभियान के दौरान राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में जनता को बताना होगा। प्रदेश के हर क्षेत्र/वार्ड में सभा आयोजित करनी होगी। इसमें वार्ड के लोगों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी। प्रत्येक क्षेत्र/वार्ड में अलग-अलग स्थानों पथ सभा करनी होगी। पथ सभा के माध्यम से शहीद सभा का प्रचार करना होगा। तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रत्येक बूथ में कम से कम दो दीवारें लिखनी होंगी। इन दीवारों पर कोलकाता में शहीद सभा कार्यक्रम में शामिल होने का आह्वान किया जाएगा। साथ ही दैनिक कार्यक्रम की तस्वीर जिलाध्यक्ष के वाट्सएप पर भेजनी होगी और कार्यक्रम की जानकारी देनी होगी। तृणमूल कांग्रेस के हर शाखा संगठन और विधायकों को एकजुट होकर कार्यक्रम को अंजाम देना होगा। रिपोर्ट अशोक झा

Related Articles

Back to top button