North Bengal Siliguri

मेंहदीपुर बाउल मेले में साम्प्रदायिक संभावना के मेल ने मिशाल कायम की।

मालदा: मालदा अंग्रेजबाजार ब्लॉक के मेंहदीपुर में आयोजित बाउल मेला में साम्प्रदायिक एकता ने मिशाल कायम की ।

बृहस्पतिवार सुबह इस मेले में रास उत्सव का आयोजित हुआ ।रास उत्सव में हिन्दू-मुसलमानों ने धर्म के भेदभाव को मिटाकर एक दूसरे से कंधे से कंधा मिलाकर भाग लिया।

इस वर्ष मेहंदी पुर बाउल कमिटी के तत्वधान में मेले का आयोजन किया गया।इस वर्ष मेला आयोजन का सफल 28वा वर्ष बिता ।

इस विषय पर विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बाउल मेला के संपादक उत्तम घोष ने बताया कि ,माघ पूर्णिमा के उपलक्ष्य में 32 पहर की बाउल मेला या साधु उत्सव प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है ।यह मेला वर्तमान समय मे काठमेला के नाम से प्रचलित है।

मेंहदीपुर फेरीघाट में आयोजित यह मेला साम्प्रदायिक सद्भावना का एक उदाहरण है।इस मेले में हिन्दू के साथ साथ मुसलमान भाई बहन भी कंधे से कंधा मिलाकर भाग लेते है ।

मालदा सहित पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों से श्रद्धालु एवं कलाकार इस मेले में भाग लेने आते है ।

रास मेला के उपलक्ष्य में हजारो की संख्या में आये भक्तो के लिए खिचड़ी प्रसाद स्वरूप वितरित की जाती है।

Share this:

You may also like