National North Bengal Politics Siliguri WestBengal

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कही -” बंगाल में रहना है तो बांग्ला भाषा बोलनी होगी !”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कही -” बंगाल में रहना है तो बांग्ला भाषा बोलनी होगी !”

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ टीएमसी और बीजेपी के बीच राजनीतिक प्तनाव लगातार बढ़ती जा रही है। राज्य में बीजेपी को मात देने के लिए ममता बनर्जी ने अलग दाव आजमाया है ।

जिसमे ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कोलकाता के एक सभा मे कहा कि – “बंगाल में रहना है तो बांग्ला भाषा बोलनी होगी।”

आगे उन्होंने कहा कि राज्य में चल रही डॉक्टरों की हड़ताल के पीछे भी कुछ बाहरी लोगों के शामिल होने की आशंका है ,

शुक्रवार को नॉर्थ 24 परगना में ममता बनर्जी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगी। हमें बांग्ला को आगे लेकर जाना है। जब मैं बिहार, यूपी या पंजाब जाती हूं, तो मैं उनकी भाषा में बात करती हूं। अगर आप बंगाल में हैं तो आपको बांग्ला बोलना ही होगा। मैं उन अपराधियों को बर्दाश्त नहीं करूंगी जो बंगाल में रहते हैं और बाइक पर घूमते हैं।

View image on Twitter

ANI

@ANI
West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee: We have to bring Bangla forward. When I go to Bihar, UP, Pujnab, I speak in their language, if you are in Bengal you have to speak Bangla. I will not tolerate criminals who stay in Bengal and roam around on bikes.

आपको जानकारी दे दें कि, पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव से शुरु हुआ हिंसात्मक घटनाओं का दौर अब तक थमा नहीं है। सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच आए दिन टकराव हो रहे है।

आपको बता दें कि बंगाल में इस समय डॉक्टरों की हड़ताल चल रही है, जिसकी वजह से राज्य में विवाद जारी है। यहां एक जूनियर डॉक्टर के साथ कुछ मरीजों ने मारपीट की थी, जिसके बाद से ही राज्य में डॉक्टर हड़ताल पर हैं।

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से ममता बनर्जी खफा हैं। उन्होंने गुरुवार को कहा था कि अगर चार घंटे के अंदर डॉक्टर हड़ताल खत्म नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी

लेकिन उसका भी असर नहीं हुआ विपरीत में हड़ताली डॉक्टरों मे सामूहिक इस्तीफा दे दिया, ओर विवाद बढ़ता ही जा रहा है !

Share this:

You may also like