North Bengal Sikkim Siliguri WestBengal

सिलिगुड़ी : तश्करी होने से पहले ही 24किलो सोना धराया !

सिलिगुड़ी 14मई : मणिपुर के छह युवकों को तस्करी से पहले 24 किलो सोने के बिस्कुट के साथ गिरफ्तार किया गया
यह उपलब्धि केंद्रीय जांच ब्यूरो (डीआरआई) द्वारा सफ़ल हुई ,

DRI ने सोमवार रात को सिलीगुड़ी के बर्दवान रोड इलाके में एक शॉपिंग मॉल के सामने छह युवकों को एक गुप्त सूचना के बाद गिरफ्तार किया। डीआरआई सूत्रों के मुताबिक ” बरामद सोने की वजन 24 किलो 150 ग्राम है जिनमें से 25 सोने के बिस्कुट और 20 बट़ हैं।

बरामद सोने की कीमत अंतराष्ट्रीय बाजार में करीब 7.79 मिलियन और 65 हजार रुपये का है। प्रत्येक बिस्कुट का वजन 166 ग्राम होता है और प्रत्येक एक किलोग्राम बटन होता है।

तीनो तश्कर अलग अलग रूट से कूचबिहार से सिलीगुड़ी आये थे,जिसके बाद DRI कार्यकर्ताओं ने बर्दवान रोड में ही उन सभी 6युवाओं को धर दबोचा ,

पकड़े गए आरोपियों में मोहम्मद नुमान, मोहम्मद लुकुमन, हाफिज मिस्बाहुद्दीन, मोहम्मद जमील अहमद, मोहम्मद दाऊद अख्तर और एमएम मीम खान शामिल हैं। सभी की पहचान मणिपुर के पूर्वी इम्फाल के उपमंडल लिलोंग और चेंगमदाबी के निवासी के रूप में हुई है, स्वर्ण को मूल रूप से स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, चीन और रूस में ले जाना था। बिस्कुट और बटन पर हर देश की सोना बनाने वाली कंपनी के नाम और सीरियल नंबर हैं।

यह भी ज्ञात है कि भारत-म्यांमार, चीन के साथ भूटान की सीमा को पार करके सोना भारत के मणिपुर में प्रवेश करता है। सुनार मणिपुर में छह युवकों के पास आया। वहां से वे मणिपुर से कोचबिहार आए।

सिलिगुड़ी पहुंच उत्तरी बिहार राज्य परिवहन संगठन की तीन अलग-अलग बसों को कोच बिहार से लेकर जाना था।

कोचबिहार में आते ही, डीआरआई कार्यकर्ताओं ने तीन समूहों में तस्करों का पीछा करना शुरू कर दिया। डीआरआई कार्यकर्ताओं ने सिलीगुड़ी के अपस्ट्रीम रोड में बसों में प्रवेश करने के बाद परिचालन शुरू किया।

सोने की तस्करी का उद्देश्य सिलीगुड़ी और कलकत्ता था। यह भी ज्मालूम चला है कि गिरोह के अंतर्राष्ट्रीय तस्करी से संबंध हैं।

ख़बर आजकल से अमर साह की रिपोर्ट !

Share this:

You may also like