Politics Siliguri

भाजपा प्रत्याशी श्री राजू विष्ट ने आज गोरुबथन मे एक बड़ी जनसभा को संबोधित किया !

गोरुबथान। दार्जिलिंग लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी श्री राजू विष्ट जी ने आज सुबह गोरुबथन मे आयोजित एक बड़ी जनसभा को संबोधित करते हुऐ कहा कि “ममता दीदी सरकार की गुंडागर्दी एव आतंक से गोरखा एव पहाड़ी समाज के लोग पीड़ित है। लगभग 5000 से ज्यादा गोरखा भाई एवं युवा ममता दीदी सरकार के आतंक के कारण जंगल में जीवन व्यतीत करने के लिए मजबूर हैं । मैं विश्वास दिलाता हूं। अगर मै एम पी बना तो इस अत्याचार के खात्मे के लिए एक कमीशन का गठन करुगा और इस बात को सुनिश्चित करुगा कि इस कमीशन के माध्यम से गोरखा समाज को न्याय मिले।

आगे उन्होंने कहाँ “यह चुनाव दीदी की आतंक के अंत का चुनाव है। मैंने अपने गोरखा समाज की पीड़ा को देखा है और उनको किस प्रकार से परेशान किया जा रहा है इस पीड़ा को मैंने देखा है।

इस अवसर पर जनसभा को संबोधित करते हुए लोकसभा के प्रत्याशी श्री राजू बिष्ट ने कहा की #एनआरसी से गोरखा समाज को घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है एनआरसी लागू होने से गोर्खा समाज को फायदा होगा। यह तो उन अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों के खिलाफ है जो आज के देश में तार काट कर घुसे हैं और देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा है।

इस जनसभा को संबोधित करते हुए श्री राजू विष्ट ने कहा कि मुझे पता है कि चाय बागान में काम करने वाले बागान श्रमिकों को बहुत ही कम वेतन मिलता है अभी आप के बीच आते समय मैं कुछ चाय बागान का भ्रमण करके आया हूं और मुझे लगता है कि इस न्यूनतम वेतन विषय पर ध्यान देना ठीक करने की तत्काल आवश्यकता है यहां के बागान में काम करने वाले श्रमिकों का वेतन कम से कम असम के चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों के समान होना चाहिए। मैं हर संभव कोशिश करूंगा कि जिससे चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों का वेतन पर न्याय मिल सके। इस के साथ उनकी उचित आवास व्यवस्था का इंतजाम किया जा सके एवं उनकी बच्चों के लिए अच्छी चिकित्सा एवं शिक्षा व्यवस्था का भी इंतजाम किया जा सके।

इस महत्वपूर्ण अवसर पर अनेको संगठनो के पदाधिकारी ने भी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी श्री राजू विष्ट के विषय में कहा कि वह एक युवा एवं प्रतिभाशाली नौजवान है जो इस पहाड़ी क्षेत्र के विकास के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं और हमारे समाज को लेकर वह बहुत ही संवेदनशील है इसलिए हम सब गोरखा समाज के संगठन उनको समर्थन देने के लिए आए हैं । सभा को संबोधित करने के बाद श्री राजू विष्ट ने वहां के स्थानीय लोगों के साथअनेको विषय पर चर्चा की एवं स्थानीय मंदिर में जाकर श्री राम कथा को भी सुना।

Share this:

You may also like