Siliguri

“महिला दिवस” के दो दिन बाद भी न्याय को तरसती रही सिलीगुड़ी की “भारती”

पिछले महीने के 25 तारीख को चम्पासाडी निवासी भारती सिंह जायसवाल को आनन फ़ानन में सिलीगुड़ी के एक नरसिंग होम में भर्ती कराया गया था ,

घटना यूँ थी मानशिक उत्पीड़न के चलते भारती सिंह जैस्वाल ने आग लगा आत्महत्या करने की कोशिस की थी ,

घटना के कुछ दिन बाद ही सिलिगुड़ी बीजेपी महिला की अध्यक्छ श्रीमती माधवी मुखर्जी ने सिलीगुड़ी जॉर्नलिस्ट क्लब में पत्रकारों को सम्बोधित कर जानकरी दी थी कि ” भारती की आत्महत्या करने की वजह प्रशासन के बार बार मानशिक उदपिडंन करना था ,

उक्त जानकारी के मुताबित भारती के पति के ऊपर झूठा मुकदमा डाला गया था,जिसके बाद भारती के पति अपने घर से फरार थे ,

प्रशासन द्वारा भारती को बार बार धमकाया जा रहा था, जैसे कि माधवी मुखर्जी ने बताया “भारती ने खुद वीडियो के माध्यम से अपने बयान दिए है जिसमे साफ साफ पुलिस कार्यकर्ता का नाम उल्लेख किया है !और आरोप लगाते हुए बताया कि उसे बार बार टॉर्चर किआ जा रहा था , जिससे डिप्रेसन में आकर यह कदम उठाना पड़ा ”

वीडियो में पुलिस कर्मी का नाम उल्लेख करने के बावजूद भी पुलिस के आलाधिकारी ने कोई कदम नही उठाया है !

आज भारती हमारे बीच नही रही इस घटना की जानकारी पाकर सिलीगुड़ी चम्पासरी में आक्रोश का माहौल है ,सभी इस घटना के बाद आक्रोशित है ,

आज शाम दार्जीलिंग MP श्री अल्हुवालिया भारती के घर पहुंचने वाले है !

अब बात यह आ रही है कि भारती के इस शिकायत के बाद भी अभी तक आरोपी पर कोई करवाई नही की गई है ,

बीजेपी महिला मंडल द्वारा कदम उठाने पर भी प्रशासन मौन क्यूँ है ?

दो दिन पहले “महिला दिवस ” मनाने वाला समाज ! क्या महिला का सम्मान इसी तरह से कर रहा है ?

इस मामले की जाँच गंभीर रूप से होनी चाहिए ,यह एक महिला के सम्मान और उसके आत्मसम्मान की बात है !

Share this:

You may also like