Siliguri

फिर बढ़ी डुआर्स में चाय बागानों में श्रमिकों की समस्या !

#Khabar_Aajkal #OurKabtak?
नागराकाटाः डुआर्स नागराकाटा ब्लक स्थित ग्रासमोड़ चाय बागान आज फिर से बंद हो गया है ,

राष्ट्रिय राजमार्ग के स्थित ग्रासमोड़ चाय बागान बंद होने से वहां के 1225 श्रमिकों का भविष्य सवाल बन अंधकार मंडराने लगा है।

जानकारी के अनुसार ग्रासमोड़ चाय बागान में श्रमिकों का बकाया मजदूरी नहीं दे पाने के बजह से चाय बागान प्रबंधक बीते दिन यानी कि साेमबार रात को हि चाय बागान पलायन कर चुके है ,ऐसा आरोप श्रमिकों ने लगाया है ।

बीते दिन #केरन बागान के बाद आज #ग्रासमोड़ चाय बागान बंद होने से डुआर्स चाय उद्योग में चर्चा का विषय बना हुआ है ,

ग्रासमोड़ #चाय_श्रमिकों कहना है कि “कल चाय बागान में आज मजदूरी देने की बात थी ,लेकिन बीते रात बिना किसी सुचना दिए बिना प्रबंधक चाय बागन छोड़कर चले गए है ,

इस तरह दिन प्रतिदिन डुआर्स के चाय बागान एक एक कर बंद होने से डुआर्स चाय अद्योग ओर चाय श्रमिको का भविष्य एक सवाल नही तो और क्या है ??

स्थानिय चाय श्रमिकों से मिली जानकारी के अनुसार चाय बागान में फिलहाल पुराना 5 और नयां 2 मिलाकार कुल 7 मजदूरी मिलाकर कुल 47 लाख रुपय श्रमिकों का बकाया है ,

उसके उपर 3 पुराना और 1 नया माशिक बेतन का कुल 24 लाख रुपिया बकाया है स्टाफ सब स्टाफ को कुल 3 लाख रुपिया बकाया है !

पिएफ 4 करोड़ 50 लाख, गे्रजुएटी एक करोड 80 लाख है । कुल मिलाकर कहें तो चाय बागान में 8 कारोड़ से ज्यादा बकाया राशी मालिक को भुकतान करनी है !

खबर आजकल से अमर साह की रिपोर्ट।।

Share this:

You may also like