Khabar Aajkal Siliguri

चीनी नागरिक को छह दिनों के लिए भेजा गया पुलिस रिमांड में , भारत में घुसपैठ से पहले बांग्लादेश में हुआ था कोरोना संक्रमित

अवैध रूप से भारत में आया हुआ जुनवेई जब कोरोना संक्रमित पाया गया तब वह बांग्लादेश में था। चीनी नागरिक के कोरोना संक्रमण पाए जाने के बाद उसे बांग्लादेश के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

बता दें कि दो दिनों तक वहां रहने के पश्चात संक्रमित हालत में ही उसने भारत में प्रवेश किया जिसके पश्चात कालियाचक थाने के सुल्तानपुर इलाके में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों के द्वारा उसे पकड़ लिया गया।

गुप्त सूत्रों के आधार पर , केंद्रीय खुफिया एजेंसी के अधिकारियों की शुरुआती जांच के जरिये इसका खुलासा किया गया है।गिरफ्तार चीनी नागरिक का भारत में वीजा रद्द कर दिए जाने के कारण इससे पहले भी कई बार वह नेपाल और बांग्लादेश होते हुए भारत में घुसा था। परंतु इस बार वह सीमा पर तैनात बीएसएफ जवानों के हाथों पकड़ा जा चुका है ।

हालांकि , कोरोना संक्रमित होने के बावजूद चीनी नागरिक ने क्यों इतनी जल्दी भारत में घुसने की योजना बनायीं इसकी जाँच केंद्रीय खुफिया एजेंसी के द्वारा शुरू कर दी गयी है।

खबर यह भी है कि गिरफ्तार चीनी नागरिक का दिल्ली के गुड़गांव में होटल का कारोबार है। जिसे जानकर पुलिस और खुफिया अधिकारी हैरान है।

गौरतलब है , कालियाचक पुलिस ने भारत में अवैध रूप से प्रवेश करने के आरोप में शनिवार के दिन गिरफ्तार चीनी नागरिक को मालदा की अदालत में पेश किया है और वहां न्यायाधीश ने चीनी नागरिक को छह दिन की पुलिस रिमांड में भेजने का आदेश दिया है।

हालांकि , शनिवार सुबह 10 बजे से चीनी नागरिक 30 वर्षीय हान जुनवेई को अदालत ले जाने से पहले पूरे इलाके को पुलिस सुरक्षा ने घेर लिया एवं कालियाचक पुलिस ने दोपहर करीब दो बजे मालदा अदालत में पेश किया।

पुलिस द्वारा अदालत से चीनी नागरिक को सात दिन की हिरासत में भेजने की अपील की गयी मगर अदालत ने छह दिन की पुलिस हिरासत का आदेश दिया। वहीं पुलिस सूत्रों के द्वारा बताया गया कि उक्त आरोपी को 18 जून को दोबारा अदालत में पेश किया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर पुलिस और खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार , चीन के हुबेई के रहने वाले हान जुनवेई के अवैध गतिविधियों में शामिल रहने की शिकायत उत्तर प्रदेश पुलिस के पास दर्ज है।जिसके तहत उत्तर प्रदेश पुलिस ने पिछले साल उसके एक सहयोगी को गिरफ्तार भी किया था। इसके बाद राज्य के आतंकवाद निरोधी दस्ते के अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की।

वैसे पूछताछ के जरिये गिरफ्तार चीनी नागरिक हान जुनवेई के बारे में जानकारी मिली। इस बीच बांग्लादेश के रास्ते मालदा होते हुए अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने की उसने योजना बनाई।

इसके लिए वह बांग्लादेश सीमा पर अवैध तस्करों के संपर्क में था। बाद में उसने तस्करों की मदद से बांग्लादेशी सीमा से अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने का रास्ता खोज लिया। पुलिस को पता चला कि इसके लिए तस्करों के साथ अच्छे खासे पैसे का लेन-देन किया गया है।

गिरफ्तार आरोपी के पास चीनी के अलावा अंग्रेजी बोलने की क्षमता नहीं है। जिसके कारण उससे पूछताछ में दिक्कत हो रही है।

हालांकि , इस मामले में पुलिस ने व्यख्याकार लाने की व्यवस्था की है| पुलिस द्वारा पूछताछ में काफी जानकारी सामने आने की उम्मीद जताई जा रही है।

subscriber

Related Articles